Sahajyog TV (सतयुग टीवी) -  

सहजयोग टीवी मानव के मानसिक, शारीरिक , आर्थिक सामाजिक  और आध्यात्मिक उत्थान हेतु शुरू किया गया एक सफल प्रयास है। इस टीवी चैनल (Sahajyog TV on Youtube) पर दिखाया गया कंटेंट श्री माताजी निर्मला देवी जी, जो कि स्वयम आज की महावतरन  द्वारा प्रेरित है। यह  चैनल पिछले 6 साल से  यूट्यूब पर क्रियाशील हैं।  अब तक 2 करोड़ लोगों द्वारा यह चैनल देखा गया है और 1,47,000 लोगों द्वारा इस  चैनल को सब्सक्राइब भी किया गया है। इसका प्रारम्भ डॉ ईलम सिहं बन्सल जी और डॉ जीवन सैनी  जी द्वारा किया गया है। यह कोई साधारण चैनल नहीं है । इस चैनल पर दिखाए गए प्रत्येक वीडियो का उद्देश मानव जाति का उत्थान है।

यह चैनल हमारी किसी भी व्यक्तिगत फायदे को पूरा नहीं करता। इस चैनल के माध्यम से सहजयोग ध्यान की उस पद्धति को मानव जाति के सामने रखा गया है जो हजारों वर्ष पूर्व आए हुए सभी अवतरन एवं संत महापुरुषों द्वारा उपयोग में लाई गई थी।

जिसके द्वारा हम हमारे ही शरीर में उपस्थित सकारात्मक उर्जा जो कि कुंडलिनी शक्ति के रूप में स्थित है का जागरण पा सकते हैं। पुराने समय में इस जागरण को पाने हेतु  संतो द्वारा कठोर तप किया जाता था। जिसे आज बहुत ही सहजता से सहजयोग टीवी को खोल कर श्री माताजी निर्मला देवी के सामने दोनों हाथों को फैलाने मात्र से ही प्राप्त किया जा सकता है।

 इस टीवी चैनल (Sahajyog TV on Youtube) को देखने मात्र से ना जाने कितने सत्य को खोजने वाले साधकों ने अपना आत्म साक्षात्कार प्राप्त किया है और आज भी प्राप्त कर रहे हैं। आत्म साक्षात्कार के बाद हुए फायदों के बारे में आप हमारे कमेंट एरिया में भी देख सकते हैं। पिछले 6 वर्षों से यह कार्य हमारे टीवी चैनल (Sahajyog TV on Youtube) द्वारा पूर्णता निशुल्क किया जा रहा है।

हमारे टीवी चैनल (Sahajyog TV on Youtube) पर दिखाए गए कंटेंट्स में सबसे अधिक देखा जाने वाला वीडियो हैं :-


1.हम स्वयम के गुरु कैसे बने? आज की तारीख में कुरुओ का बड़ा बोल बाला है ऐसे में आम इंसान इन कुगुरुओ के  चंगुल से  बचने के लिए  सोचता है कि क्यों ना मै स्वयम का ही गुरु बन जाऊ।  सहजयोग टीवी पर  1 महीने में स्वयं का गुरु बनने की विधि बताई गई है। जो कि लोगों द्वारा सर्वाधिक पसंद की गई है। 
2. सत्य असत्य की पहचान कैसे की जाए। 
3. असाध्य रोगो का स्वयम के द्वारा उपचार कैसे करें।
4. परिवार,समाज, देश विदेश में सभ्य्ता एवम शांति कैसे स्थापित हो। 
5. भारतीय संस्कृति का महत्त्व। 
6. पढ़ाई में एकाग्रता कैंसे लाए।
 

इस तरह के हजारो प्रश्न जिनका उत्तर एक आम इंसान अपने आस पास खोज रहा हैं सहजयोग टीवी के माध्यम से पा सकता हैं। जिसकी सत्यता इस बात से प्रमाणित होती है कि ये सम्पूर्ण ज्ञान हमे स्वयम् आदिशक्ति श्री माताजी निर्मला देवी द्वारा प्राप्त हो रहा है

जो कि इस कलयुग को सतयुग में परिवर्तित करने हेतु धरती पर अवतररित हुई है।

हमारा प्रयास आज समाज जो कि पतन की ओर बढ रहा है, प्राक्रतिक आपदओ से भयभीत होकर स्वयम को हर वक्त असुरक्षित महसूस कर रहा हैं उसे आध्यात्म के माध्यम से एक नई दिशा देना है। ताकि जल्द से जल्द चारों ओर सतयुग स्थापित हो और पूर्ण शांति हो।

जय श्री माताजी